Manikpuri Matrimonial

WEL COME

News

view:  full / summary

rools for beuty fool love riletionship

Posted by lucky on August 3, 2015 at 2:05 PM Comments comments (0)

रूल्स फॉर ब्यूटीफुल लव-रिलेशनशिप

संसार में सबसे सुंदर रिश्ता प्यार का होता है। पति-पत्नी हो या प्रेमी-प्रेमिका। दोनों एक-दूजे के पूरक हैं। लेकिन बदलते दौर में दो ‍विपरीत आदतों के लोगों का साथ में रहना सचमुच मुश्किल है लेकिन अगर आप सच्चा प्यार करते हैं और चाहते हैं कि आपका खूबसूरत रिश्ता सदा बना रहे तो यह 15 टिप्स खास आपके लिए हैं-

1. एक-दूसरे से हमेशा खूब प्यार करें।

2. कभी एक-दूसरे से झूठ ना बोलें।

3. बातचीत का रास्ता सदा खुला रखें।

4. एक-दूजे के प्रति उदार और मधुर बनें।

5. जब पार्टनर 'हर्ट' करें तो सारा ध्यान उसे माफ कर देने में लगाएं।

6. कभी भी ब्रेक-अप की बात भूल कर ना करें।

7. सॉरी कहना सीखें और अगर आप सॉरी कहते हैं तो आपका एटीट्यूड भी वही होना चाहिए।

8. अपने ईगो को एकतरफ रखना सीखें।

9. कभी भी 'इट्स ओके' तब ना कहें जब बात सच में 'ओके' ना हो...

10. अपने वर्तमान की तुलना कभी भी अतीत से ना करें।

11. अपने पास्ट को तिलांजली दें, कभी भी अपने पार्टनर से 'एक्स पार्टनर' की बात ना करें। यह सबसे ज्यादा तकलीफदेह होता है।

12. पार्टनर से लेने के बजाय देने पर ध्यान दें, चाहे वह छोटा सा गुलाब हो।

13. अपने साथी की भावनाओं का ध्यान रखें।

14. किसी भी झगड़े का अंत तुरंत करें उसे आगे के दिनों पर कभी ना टालें।

15. कोई भी व्यक्ति परफेक्ट नहीं होता पर अपने पार्टनर को अपने लिए हमेशा परफेक्ट मानें।

परिप�?�?वता स�? रिश�?ता निभा�?�?

Posted by lucky on August 3, 2015 at 2:00 PM Comments comments (0)

परिपक्वता से रिश्ता निभाएं

किसी भी रिश्ते को निभाने के लिए सबसे जरूरी है समझदारी। अक्सर लड़कियां प्यार में बड़ी से बड़ी बात तो झेल लेती हैं लेकिन कई बार कोई छोटी-सी बात ही उन्हें बेहद चुभ जाती है। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि आप समझदारी से स्थिति को संभालें।

आपकी छिछोरी या बचकाना हरकतें उसका दिल तोड़ सकती है। अपने आप पर और अपने व्यवहार पर नियंत्रण रखें। अकड़ और शो बाजी के चक्कर में आप उसके दिल में जगह नहीं ले पाएंगे।

लड़की का दिल जीतना है तो परिपक्वता अनिवार्य है वरना बात बिगड़ने के चांसेस ज्यादा हो सकते हैं। इन छोटी-छोटी बातों को अपनाएं और फिर देखिए कि कैसे मनचाही लड़की आपकी दीवानी हो जाती है।

�?�?या �?र�?�? �?ि मन�?ाह�? लड़�?�? �?प�?�? ह�? �?ा�?

Posted by lucky on August 3, 2015 at 2:00 PM Comments comments (0)

क्या करें कि मनचाही लड़की आपकी हो जाए

हर लड़के की तमन्ना होती है कि उसे एक खूबसूरत लड़की का साथ मिले। एक लड़की का दिल जीतने के लिए अक्सर लड़के ढेरों कोशिश भी करते हैं, लेकिन कई इस काम में असफल भी हो जाते हैं। अगर आप भी इस बात से निराश है या दुविधा में हैं कि कैसे एक लड़की का दिल जीता जाए? तो इसके लिए हम आपको कुछ आसान से टिप्स दे देते हैं।

सबसे पहले जिस लड़की को पसंद करते हैं उसके स्वभाव, उसकी छवि, पसंद-नापसंद के बारे में पूरी जानकारी इकत्र कर लें। ऐसा न हो, कि लड़की किसी बात को बेहद नापसंद करे और आप वही दोहराते जाएं। इससे आप उसके पास जाने के बजाय उससे दूर होते चले जाएंगे।

विश्वासपात्र और हंसमुख बनें

लड़कियां अक्सर हंसमुख और जिंदादिल स्वभाव वाले लड़कों को ज्यादा पसंद करती हैं। साथ ही उनका विश्वसनीय होना भी जरूरी होता है। इसलिए अगर आप किसी लड़की को पसंद करते हैं तो सबसे पहले उसका भरोसा जीतें और हर हाल में उसे बरकरार रखें। साथ ही हंसी-मजाक भी जरूर करें, लेकिन सीमाओं का विशेष ध्यान रखें।

थोड़ा सच-थोड़ा झूठ

अक्सर लड़के और लड़कियों की प्यार के मामले में पसंद-नापसंद अलग होती हैं लेकिन अगर आप किसी का साथ चाहते हैं तो कोशिश करें, कि उसकी पसंद-नापंसद से आपका तालमेल बैठ सके। ये सही है कि रिश्ते में सच्चाई रखी जाए, लेकिन कभी किसी का दिल रखने में भी कोई बुराई नहीं है। शुरुआत में ही किसी बात के लिए स्पष्ट तौर पर मना करने से अच्छा है जब कोई आपको पसंद करने लगे, तो कुछ समय बाद सही तरीके से इसके बारे में साफ-साफ बताया जाए।

थोड़ा सा रूमानी हो जाए

रोमांटिक अंदाज, आकर्षक आगाज

आमतौर पर लड़कियां रोमांटिक अंदाज की दीवानी होती हैं। इसलिए अगर आप उन्हें रोमांटिक गिफ्ट दें, डिनर पर ले जाएं और कुछ नहीं, तो आपका अंदाज-ए-बयां ही बेहद रोमांटिक और लुभावना होगा, तो लड़की को आप पर फिदा होते देर नहीं लगेगी।

विवाह य�?�?�?य वर �?�? �?वश�?य�?ता ह�? ।

Posted by lucky on August 3, 2015 at 2:00 PM Comments comments (0)

मानिकपुरी कबीर पंथी

विवाह योग्य वर की आवश्यकता है ।

वर जन्म से मूक व बधिर हो तथा माँस मदिरा का सेवन न करता हो,

मानिकपुरी कबीर पंथी हो, गोत्र धारवईया (धनिया) नहीं होना चाहिये।

संम्पर्क करें वर के पूर्ण जानकारी के साथ

[email protected]

mob. no. 7415691462

रिश�?त�? �?�?�?न�? पर प�?र�?ष ह�?त�? ह�?�? �?�?यादा �?हत

Posted by lucky on August 3, 2015 at 1:55 PM Comments comments (0)

रिश्ते टूटने पर पुरुष होते हैं ज्यादा आहत

लंदन। पुरुष महिलाओं से बलशाली और बहादुर चाहे नजर आएं, लेकिन रिश्तों में दरार आने अथवा टूटने पर उन्हें अधिक तकलीफ होती है।

अमेरिका में वाके फोरेस्ट यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि किसी महिला से संबंधों में खटास आने पर युवा पुरुष के दिलोदिमाग पर जबर्दस्त असर पड़ता है। वजह यह है कि महिलाएं जहां अपने तनाव को मित्रों में साझा कर लेती है वहीं पुरुष भीतर ही भीतर घुटने लगता है और नकारात्मक सोच उसके जेहन में घर कर जाती है। नतीजतन वह शराब जैसी लत का दामन पकड़ लेता है।

अध्ययन के नेता प्रोफेसर राबिन शिमन ने स्वीकार किया कि वह नतीजों को देखकर हैरत में पड़ गईं क्योंकि आम सोच यह थी कि रिश्तों में भावात्मक उथल-पुथल की शिकार महिलाएं जल्द हो जाती है।

डेली मेल ने उनके हवाले से कहा कि आश्चर्य हुआ यह जानकर कि रिश्तों में उतार चढ़ाव का युवकों पर अधिक प्रतिक्रिया होती है। लेकिन अगर रोमांस सही चल रहा है तो पुरुष अधिक लाभांवित रहता है। सर्वेक्षण 1000 अवैवाहिक युवक युवतियों पर किया गया जिनकी उम्र 18 से 23 साल के बीच थी।

शिमन ने कहा कि सर्वेक्षण से यह बात सामने आई कि युवक बहुत कम लोगों में विश्वास करते हैं जबकि महिलाएं अपने परिजनों और मित्रों के साथ अधिक करीबी संबंध रखती हैं। इसकी एक वजह युवकों में पहचान और आत्मसम्मान की अधिक भावना भी है। उनके अनुसार एक तथ्य यह है कि पुरुष और महिला अलग अलग तरीके से भावनाओं को अभिव्यक्त करते हैं। महिलाओं में भावात्मक पीड़ा अवसाद में झलकती है जबकि पुरुषों में यह ठोस समस्याएं लेकर सामने आती है।

मानसिक स्वास्थ्य पर लंबे अध्ययन और प्रौढ़ होने की प्रक्रिया पर किया गया यह अध्ययन हेल्थ एंड सोशल बिहेवियर नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

व�?ब सा�?�? �?ा स�?पय�?�? �?र�?�?

Posted by lucky on November 29, 2014 at 2:05 PM Comments comments (0)

आदरणीय मेंम्बर्स साहेब बंदगी.........साहेब इस वेब साइट का सुपयोग करें

SHADI SUDHA JEEVAN KO KHUSHNUMA KAISE BANAYE

Posted by lucky on August 29, 2012 at 8:05 AM Comments comments (0)

शादी शुदा जीवन को खुशनुमा कैसे बनायें

 

हर जोड़ा जो शादी के बन्धन में बन्धता है वो आजीवन खुश रहने के सपने सजाता है ा कभी कभी सच्चाई का सामना करते हुए ये सपने हकीकत की धरातल से टकराकर टूट जाते हैं ा एक खुशहाल जीवन जीने के सपने तो हर कोई देखता है लेकिन घर, परिवार, खर्चे और आपसी सम्बन्ध को साथ में लेकर चलना इतना आसान नहीं होता ा अपने रिश्ते को लेकर आगे बढ़ने के तरीके न तो बहुत मुश्किल है और न ही बहुत आसान, बस ज़रूरत होती है कुछ छोटी बड़ी बातों पर ध्यान देने की ा

 

अपने पार्टनर को समझें और उसकी बातांे की इज़्जत करें ा ध्यान रखें आपका पार्टनर भी एक इन्सान है जिससे भी गलतियां हो सकती हैं,उसकी अच्छाइयों और बुराइयों को समझें और उसकी भावनाओं की इज़्जत करें ा़ एक दूसरे के लक्ष्य को समझें और अच्छा होगा अगर आप एक दूसरे के काम से समझें ा एक दूसरे की कमियां न निकालें ,याद रखें अच्छाइयां और बुराइयां सभी में होती हैं लेकिन कोई भी इन्सान पर्फेक्ट नहीं होता ा स्त्रियां अकसर ऐसा सोचती हैं कि उनके लाइफ पार्टनर में वो सभी गुण हों जो उन्हें अच्छे लगते हैं ा ज़्यादातर स्त्रियों की ये आदत होती है कि वो अपने लाइफ पार्टनर की तुलना अपनी सहेलियांेे के लाइफ पार्टनर से करती हैं जो कि बिलकुल गलत है।

 

एक दूसरे को समझने के कुछ टिप्स:

स्त्रियां चाहती हैं कि उनका लाइफ पार्टनर एक अच्छी पर्सनालिटी वाला, अच्छे व्यक्तित्व वाला ज़िम्मेदार इन्सान हो ा लेकिन कहीं अगर उनका लाइफ पार्टनर उनकी इन इच्छाओं पर खरा नहीं उतरता है,तो वो दुखी हो जाती है। अच्छा होगा अगर इन छोटी बड़ी इच्छाओं को ध्यान मंे न रखकर अपने रिश्ते को गहरा बनाने की और एक दूसरे को समझने की कोशिश करें ा

हमेशा एक दूसरे की भावनाओं को समझने की कोशिश करें और अपने पार्टनर की इच्छाओं को दबाने की कोशिश न करें ा आप चाहे कितने भी व्यस्त हों एक दूसरे के लिए समय ज़रूर निकालें, साथ में किसी पार्टी में या पिकनिक पर जा सकते है।

जैसे कि एक दूसरे को समय देना ज़रूरी होता है उसी तरह से हर किसी को अपने लिए समय चाहिए होता है ा शादी के बाद बस एक दूसरे तक ही जीवन सीमित नहीं रहता बल्कि ज़िम्मेदारियां और भी बढ़ जाती हैं।

एक दूसरे से हमेशा सच बोलने की कोशिश करें ा अपनी भावनाओं को भी अपने पार्टनर को समझाने की कोशिश करें कि आपके जीवन में उनका कितना महत्व है ,इससे आपकी खुशियां और बढ़ेंगी ा किसी बात पर झगड़ने की बजाय अपने पार्टनर की बात सुनें ा झगड़े का कारण जानें और फिर समस्या का समाधन निकालने की कोशिश करें ा

किसी भी बात पर बिलकुल सख्त न हों बल्कि समय के साथ चलें ा अगर परिस्थितियां आप से सम्भल नहीं रहीं है तो अपने पार्टनर से बात करें ा हमेशा अपने पार्टनर का सपोर्ट करें और अच्छी बुरी परिस्थितियों में एक दूसरे का साथ देने की कोशिश करें ा याद रखें समय और स्थितियां हमेशा बदलती रहती हैं ा

एक दूसरे की गलतियों पर एक दूसरे को माफ करने की कोशिश करें ा छोटे मोटे झगड़े तो हर घर में होते ही रहते हैं ा अपनी गलती पर माफी मांगने में संकोच न करें ा माफी मांग लेने से कोई बड़ा या छोटा नहीं होता ा कुछ बातों का ध्यान रखकर आप अपने शादी शुदा जीवन को खुशहाल बना सकते हैं ा

shadi se pahale hone wali samasyayen

Posted by lucky on August 28, 2012 at 7:00 AM Comments comments (0)

शादी से पहले होने वाली समस्याएं

 

शादी जैसा मौका हर किसी के जीवन में आता है और इस पल को हर कोई संजो कर रखना चाहता है। शादी के मौकों पर घबराहट होना भी स्वाभाविक है लेकिन क्या आप जानते हैं शादी से पहले होने वाली समस्याएं कई होती हैं। इतना ही नहीं शादी से पहले संबंध शादी के बाद आपको परेशानी में डाल सकते हैं। कहने का अर्थ है जिन लोगों की शादी होने वाली होती है इससे पहले भी उन्हें कई तरह की समस्याओं को फेस करना पड़ सकता है। यदि आप चाहते हैं कि आपको ऐसी कोई समस्या ना हो तो आपको उन समस्याओं को जानना होगा। आइए जानें शादी से पहले होने वाली समस्याओं के बारे में।

तनाव- शादी से पहले लड़के और लड़कियों में तनाव होना स्वाभाविक है। तनाव के भी कई कारण हैं, कई बार तनाव एक नए माहौल में जाने या फिर जिम्मेदारियों को उठाने के कारण होता है तो कई बार घबराहट के कारण या अधिक सोचने के कारण तनाव बढ़ जाता है। ऐसा नहीं कि तनाव होना गलत बात है लेकिन अधिक तनाव रहने से आप डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं।

डायट- शादी से पहले कई बार आपकी भूख मर जाती है, आप खाना-पीना छोड़ देते हैं, इतना ही नहीं इससे आप बीमार भी पड़ सकते हैं या फिर आपमें कमजोरी आने लगती हैं।

शारीरिक हेल्थ- शादी से पहले खासकर लड़कियों की हेल्थ खराब हो जाती हैं, घबराहट, चिंता और अन्य कारणों से उन्हें शारीरिक कमजोरी आ जाती है। इससे उनका प्रतिदिन का रूटीन बिगड़ जाता है।

वजन कम होना- शादी के समय हर कोई सुंदर और स्मार्ट लगना चाहता हैं, ऐसे में लड़कियां अपना वजन घटाना शुरू कर देती हैं और उसका नतीजा उनमें कमजोरी आने लगती है।

थकान होना- शादी से पहले बहुत सी चिंताओं और काम के बोझ के तले आपको थकान हो सकती हैं। इतना ही नहीं आपको सुस्ती भी आ सकती है।

मूड में बदलाव- शादी से पहले आप अपने मूड में लगातार परिवर्तन देख सकते हैं। कभी आपको अकेले रहने का मन करेगा तो कभी आप एकदम चुप्पी साध लेंगे तो कभी आपको बहुत बातें करने का मन करेंगा।

झगड़े- कई बार आपके होने वाले पार्टनर से आपके विचार ना मिलने के कारण आपका आपसी झगड़ा भी हो जाता है। जिसका नकारात्मक असर आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ सकता है। इतना ही नहीं आपकी जॉब और शादी को लेकर भी कई मतभेद जैसी समस्याएं आ सकती हैं।

 

शादी से पहले होने वाली समस्याओं को दूर करने के उपाय

आप चाहे तो शादी से पहले दोनों मिलकर एकसाथ काउंसलिंग कर सकते हैं या फिर आप अकेले भी शादी के लिए काउंसलिंग ले सकते हैं।

यदि आपको शादी को लेकर बहुत ज्यादा तनाव है तो आपको मेडीटेशन और योगा करना चाहिए।

आप जैसे हैं वैसे ही रहिए और वजन घटाने के लिए किसी एक्सपर्ट से अपना संतुलित और पौष्टिक डायट चार्ट बनवा सकते हैं।

यदि आपका अपने होने वाली पार्टनर से किसी बात को लेकर झगड़ा होता है तो आपको उसके साथ दो-तीन मीटिंग करनी चाहिए ताकि आप अपने झगड़ों को सुलझा सकें और किसी भी गलतफहमी को अपने बीच आने से रोक सकें।

आप शादी से पहले के संबंधों के बारे में अपने होने वाले पार्टनर को जरूर बता दें ताकि शादी के बाद आपको कोई समस्‍या ना हो।

यदि आप अधिक कमजोर या बीमार महसूस कर रहे हैं तो आपको डॉक्टर से कंसल्ट कर अपना रेगुलर चेकअप करवाना चाहिए।

???? ?? ?????????? ??????????

Posted by lucky on August 26, 2012 at 10:20 AM Comments comments (0)

शादी से सम्‍बन्‍धी परेशानियां

शादी की तारीख तय हो गई है और कार्ड भेजे जा चुके हैं लेकिन आप अभी भी बुरी तरह से डर रहे हैं। इस तरह से नर्वस होना स्वाभाविक है क्योंकि आप नही जानते कि आपके लिए भविष्य के पिटारे में क्या है। भविष्य अनिश्चित लगता है और यह पूरी तरह से एक बड़ा कदम प्रतीत होता है। परेशान न हों, आशा है कि आपने हमारा अनुभाग “शादी कब करें” पढ़ा है यह आपके लिए बहुत ही आसान सफर होगा।

 

पिछले बुरे अनुभवों के कारण होने वाला डर 

लोग पिछले बुरे अनुभवों या शादी से दुखी दूसरे लोगों को देखकर डरते हैं। चिन्ता जनक रूप से बढ़ते तलाक के मामलों और विवाहेत्तर सम्बन्धों  की वजह से कोई भी शादी करने से डर सकता है। शादी के मामले में नकारात्मक न बनें अगर आप दोनों के मूल्यी और आचार-विचार समान हैं। शादी में दोनों पार्टनर्स की ओर से समझौते और समन्वय की ज़रूरत होती है। अपने भय और सन्देह की चर्चा अपने पार्टनर से करें और एक साथ मिलकर उनका समाधान करें बहुत सम्भव है कि शायद आप दोनो एक जैसी भावनाएं महसूस कर रहे हों।

 

सुख-दुख में एक दूसरे के साथी बनें 

वास्तव में शादी सम्बन्धों का "आधार"  है और इसमें भविष्य से जुड़े भय होना स्वाभाविक है। पार्टनर के साथ चर्चा करके और हमेशा एक-दूसरे का सहयोग करते हुए अपना डर दूर करें।


shadi ke pramarsh ke fayade

Posted by lucky on August 25, 2012 at 11:20 AM Comments comments (0)

आज के समय में अधिक से अधिक जोड़े शादी से पहले काउंसलिंग लेना या फिर परामर्श लेने की ओर अग्रसर हो रहे हैं। हो भी क्यों ना, आखिर मैरिज काउंसलिंग है भी इतनी जरूरी। दरअसल आज के समय में रिश्तों में स्थिरता खत्म होती जा रही है और पति-पत्नी। आपस में एक-दूसरे को समझने के बजाय झगड़ने लगते हैं। नतीजन, बात तलाक तक पहुंच जाती है। ऐसे में जरूरी है कि रिश्तों में अंतरंगता और रिश्तों को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए शादी के परामर्श लिए जाएं। वैसे भी शादी के परामर्श के फायदे ही हैं इससे आपको नुकसान नहीं होगा बल्कि आपको चीजों को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी। 


मैरेज काउंसलर आजकल प्रोफेशनल एक्सपर्ट भी होते हैं, जिनसे नए जोड़े और शादी करने वाली जोडि़यां मिलकर अपनी समस्यागओं और शंकाओं का समाधान पा सकती हैं।कुछ लोग मानते हैं कि मैरिज काउंसलर के पास जाना वक्त की बर्बादी है, लेकिन हाल ही में आए सर्वे के मुताबिक 75 फीसदी जोडि़यां ऐसी हैं जो शादी से पहले अपने जीवन और रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए काउंसलिंग ले रही हैं जबकि अन्य लोग इसे सिर्फ वक्त की बर्बादी मानते हैं। 

शादी के परामर्श के फायदे

खुलापन आना- बहुत सी जोडि़यां ऐसी होती हैं जो शुरूआत में शादी से पहले बात करने से झिझकती हैं और एक-दूसरे से अपनी समस्याओं को बताने से घबराती हैं। आज के समय में भागदौड़ की जिंदगी और तनाव के कारण लोग एक-दूसरे की समस्याओं को समझ नहीं पाते या फिर दूर भागते हैं। ऐसे में शादी के परामर्श के दौरान जोडि़यां आपस में एक-दूसरे से खुल जाती हैं। शादी से पहले काउंसलिंग एक ऐसी स्थिति है जब दोनों पार्टनर एक दूसरे के साथ बेहतर तरीके से संवाद कर सकते हैं।जिम्मेदारी निभाना- एक-दूसरे पर गलतियां थोपने से रिश्तों में दरार आ जाती है। ऐसे में दोनों में से कोई भी एक-दूसरे की जिम्मेरदारी उठाने से कतराने लगता है। शादी के बाद अकसर ऐसी स्थितियां बन जाती है। ऐसे में जिम्मेदारियों को समझने और उन्हें सही तरह से निभाने के लिए मैरिज काउंसलिंग बहुत जरूरी होती है। शादी के परामर्श की मदद से दोनों साथी एक-दूसरे की जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं।विचारों में बदलाव आना- शादी एक ऐसा टर्निंग प्वाइंट होता है जब आपका लाइफ स्टाइल बिल्कुल बदल जाता है, इसी के साथ एक चीज में और बदलाव आता है और वह है आपके विचारों में। कई बार डर और घबराहट के कारण आप आशंकाओं से भर जाते हैं। ऐसे में आपके लिए सही दृष्टिकोण होना बहुत जरूरी है। आप यदि शादी के परामर्श लेते हैं तो आपको अपना दृष्टिकोण सही बनाने में मदद मिलेगी।चिंताओं से मुक्ति- कई लोगों में शादी के नाम से ही घबराहट होने लगती हैं। ऐसे में आपका तनाव बढ़ जाता है, आप किसी से ठीक तरीके से बात नहीं कर पाते। अपनी भावनाओं को शेयर नहीं कर पाते। ऐसे में आप काउंसलिंग लेकर अपने मन की चिंता, अपने भय और डर से मुक्ति पा सकते हैं और काउंसलर से अपने दिल की सभी बातें आराम से कह सकते हैं जिससे आपको शादी के वक्त किसी भी आने वाली समस्या से निजात मिल सकें।

इसके अलावा भी शादी के परामर्श के कई फायदे हैं आपको चीजों और समस्याओं को सुलझाने में मदद मिलती है।



Rss_feed